Saturday, August 12, 2017

भगवान श्री कृष्ण



     भगवान श्री कृष्ण कई हिंदू संस्कृति के विभिन्न धर्मों और संप्रदायों में पूजनीय  है और उसे जगतगुरू भी कहा जाता है। भगवान श्री कृष्ण के जन्मदिन कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में जाना जाता है। न केवल भारत के लोग ही बल्कि विदेशों में रहने वाले भारतीयों भी खुशी के साथ जन्माष्टमी मनाया जाता है। जन्माष्टमी श्रावण वद आठम  के दिन पूरे भारत भर में बहोत उत्साह के साथ मनाया जाता है जन्माष्टमी के दिन सभी लोगों में एक ही साद होता ही की ‘नंद घेरा नंद भयो, जय कनैया लाल की’ श्री कृष्ण अपना अवतार अत्याचारी कंस का विनाश करने के लिए लिया था|

     भगवान श्री कृष्ण स्वयं जन्माष्टमी के दिन पृथ्वी पर अवतार धारण किया था; इसलिए इस दिवस को जन्माष्टमी के रूप में जाना जाता है इस अवसर पर मथुरा नगरी भक्ति के रंगों से भरपूर होती है और लोग दूर दूर से मथुरा के दर्शन पर आते है जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण पारणे में झूलते है और लोग रात को लोग भगवान श्री कृष्ण का ध्यान या मंत्र जाप करते है श्रावण वद आठम की रात को नगरो गोकुलमय बन जाता है और जगह जगह पर लोग कार्यक्रम करते है; जिसमें रथयात्रा, मटकी फोड़, रास-गरबा और कृष्ण गीत का समाविष्ट होता है

स्वतंत्रता दिवस प्रश्नोतरी


1.  भारत का स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है?
 A. 15 अगस्त
 
2.  भारत को स्वतंत्रता किसके शासन के बाद मिली थी?
 A.  ब्रिटिश शासन 
 
3.  पहली बार भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नहेरु ने राष्ट्रीय ध्वज कहाँ पर लहराया था?
 A. दिल्ली का लाल किल्ला
 
4.  स्वतंत्रता के बाद ब्रिटिश भारतका धार्मिक विभाजन में भारत और किस देशका उदय हुआ?
 A. पाकिस्तान 
 
5.  भारत ने आजादी के लिए पहला बलिदान कब दिया था?
 A. सन 1857 
 
6.  भारत का राष्ट्रीय वाक्य कौन सा है?
 A. सत्यमेव जयते 
 
7.  भारत की आजादी के समय अंतिम वायसराय कौन था; जिसे 15 अगस्त के दिनको भारत की आजादी का दिन कहा था?
 A. लार्ड माउंटबेटन 
 
8.  समग्र भारत वर्ष में 15 ऑगस्ट 2017 को आजादी के पर्व को कितने वर्ष हुए है?
 A. 71 वर्ष 
 
9.  मेरे देश को गुलाम बनाने वाली रानी की मिठाई मुझे किसी भी काल में नहीं चाहिए| ये कथन किसने कहा था? 
 A. बाल केशव 

10. भारत का राष्ट्रीय गान कौन सा है?
 A. जन-गन-मन 



















Friday, August 11, 2017

चक्रवती सम्राट अशोक

1). मौर्यकाल किस राजाको 'चक्रवाती सम्राट' कहाँ गया है? - सम्राट अशोक
2). सम्राट अशोक ने किस धर्मको अंगीकार किया था? बोद्ध धर्म
3). सम्राट अशोक के माता-पिताका नाम क्या था?  - रानी धर्मा और बिन्दुसार 
4). सम्राट अशोक के गुरु का नाम क्या था? - चाणक्य
5). सम्राट अशोक ने किसके साथ प्रेम-विवाह किया था? - कौर्वकी
6). सम्राट अशोक के पुत्र और पुत्री का नाम क्या था? - महेन्द्र और संघमित्रा
7). मौर्यकाल के किस सम्राटने श्रीनगर की स्थापना की थी? - सम्राट अशोक
8). सम्राट अशोक के बाद उसका उतराधिकारी कौन था? - कुणाल
9). अशोकके शिलालेख पाली भाषामें लिखित है, उसके शिलालेखोकों प्रथम पढने वाला
     अंग्रेज का नाम क्या था? - जेम्स प्रिसेप 
10). सम्राट अशोक द्वारा बनाया गया साँचीका स्तूप कहाँ पर स्थित है? - रायसेन (मध्य प्रदेश)

Monday, August 7, 2017

भाई - बहन की प्रीत का पर्व - रक्षा बंधन



रक्षा बंधन का त्योहार हिंदू मास के श्रावणी माह की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। इस दिन पर बहन उनके भाई को राखी बांधकर उनके कल्याण की कामना करती है और भाई भी अपने बहन की सुरक्षा करने का वचन देता है।रक्षा बंधन सिर्फ भाई-बहन का ही त्योहार नहीं हैइस दिन ब्राह्मण भी अपना पवित्र धागा बदलते हैं और मछुआरों नारियल द्वारा समुद्र की पूजा करते है। इसलिए रक्षाबंधन का एक नाम नारियेली पूनम भी है।

क्या आप जानते हैं रक्षाबंधन का त्योहार कैसे शुरू हुआ था? शास्त्रों और पुराणों मुताबिक जब भगवान विष्णु ने बलिराजा को वरदान मांगने को कहाँ तब वे विष्णु भगवान को अपने साथ पाताल में रहेने को कहाँ। इस प्रकार लक्ष्मी जी भगवान विष्णु के बिना अकेले हो गए; तब लक्ष्मी जी नारदजी द्वारा बताये गए उपाय मुताबिक बलिराजा को अपना भाई बनाकर राखी बांधा और बदले में भगवान विष्णु को बलिराजा के पास से छुडवा लिया।इस प्रकार से रक्षाबंधन त्यौहार की शुरुआत हुई|

रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर बहन अपने भाई को राखी बंधकर उनकी सभी प्रकार से रक्षा चाहती है; पर क्या वास्तव में किसी की रक्षा के लिए राखी बांध दिया जा सकता है? यहाँ राखी या रक्षाबंधन का महत्व नहीं है; बल्कि महत्व है हृदय के अमी का। 


हमारी संस्कृति के हर त्योहारों के पीछे कुछ न कुछ रहस्य छिपा हुआ है। यह त्यौहार हमको शिखाता है कि स्त्री की और गन्दी नजर न रखके उस पर सिर्फ अच्छी ही नजर रखनी चाहिए।आज हम महान संदेश को अपने परिवार सीमित ही कर दिया है।क्या आपको नहीं लगता है कि इस प्रेम बंधन त्यौहार का समाजीकरण और वैश्वीकरण होना चाहिए?


यह त्योहार बहन अपने प्यारे भाई के लिए निष्पाप, शुद्ध और पवित्र भाव से सेवी हुई शुभेच्छा और त्याग का महामूलु पवित्र प्रतिक है।बहन की इस शुभकामना भाई के जीवन विकास में प्रेरणादायक और पोषक बनते है।



Saturday, August 5, 2017

चंद्रमा पर कदम रखने वाले पहले व्यक्ति

       अमेरिका के निवासी नील एल्डन आर्मस्ट्रांग जुलाई 1969 में पहली बार चंद्रमा पर कदम रखने वाले खगोलयात्री थे। एक खगोलयात्री साथ-साथ वह नौसेना के अधिकारी,परीक्षण पायलट, प्रोफ़ेसर भी थे। उनका जन्म 5 अगस्त, 1930 वेपकॉनेटा ओहायो में हुआ था। उनको मुख्यरूप से अपोलो अभियान के रूप में चंद्रमा पर कदम रखने वाले पहले व्यक्ति के नाम से जाना जाता है। वह अंतरिक्ष यान पर 8 दिन 14 घंटे 12 मिनिट तक रहे थे। 
       आर्मस्ट्रांग को जेमिनी चालक दल मिशन की घोषणा में कमांड पायलट बनाया गया था, यह एक जटिल मिशन था जिसमे टाइटन यान में आर्मस्ट्रांग और स्कॉट सवार थे। यान को वापस लाने के लिए कैप्सूल कम्युनिकेटर के रूप में भूमिका प्रदान करके उनकों अच्छी सफ़लता मिली थी। चाँद पर उतरने वाले पहले सदस्य वही होगे ऐसा पूर्व प्रतीत हो गया था। नासा प्रबंधन का मानना था की वह एक विनम्र एवम कुशाग्र व्यक्ति है और पहले वह एक कमांडर थे, इसको चाँद पर पहले उतरने का अवसर दिया जाना चाहिए। 

      आर्मस्ट्रांग और उनके साथियों को इस साहसपूर्ण काम के लिए वहा के राष्ट्रपति निक्सन के हाथो मेडल ऑफ फ्रीडम से सन्मानित किया गया था। वर्ष 1978 कॉंग्रेसनल स्पेस मेडल ऑफ ऑनर अर्पित किया गया था। वर्ष 2009 में कॉंग्रेसनल गोल्ड मेडल दिया गया। आर्मस्ट्रांग की मृत्यु सिनसिनाती, ओहायों में 25 अगस्त 2012 को 82 वर्ष की उम्र में बाईपास सर्जरी के दौरान हुई थी।