Saturday, January 30, 2016

टाइटैनिक जहाज

टाइटैनिक दुनिया का सबसे बड़ा बाष्प आधारित यात्री जहाज था। वह इंगलैंड से अपनी प्रथम यात्रा पर, १० अप्रैल १९१२ को रवाना हुआ चार दिन की यात्रा के बाद, १४ अप्रैल १९१२ को वह एक हिमशीला से टकरा कर डूब गया। जिसमे 1,५१७ लोगों की मृत्यु हुई जो इतिहास की सबसे बड़ी शांतिकाल समुद्री आपदाओं में से एक है। ओलंपिक श्रेणी का यात्री लाइनर “टाइटैनिक” व्हाइट स्टार लाइन के हस्तगत में था और उसका निर्माण (Ireland) के Harland और Wolff  शिपयार्ड में किया गया था। वह २,२२३ यात्रिओ के साथ न्युयोर्क शहर के लिए रवाना हुआ था। यह तथ्य है की जब जहाज डूबा उस वक्त, जहाज पर उस समय के सभी नियमों का पालन करने के बावजूद केवल १,१७८ लोगों के लिए जीवनरक्षक नौका थी।
    आश्चर्य की बात यह है की, टाइटैनिक उस समय के सबसे अनुभवी इंजीनियरों के द्वारा डिजाईन किया गया था। और इसके निर्माण में उस समय में उपलब्ध सबसे उन्नत तकनीकी का इस्तेमाल किया गया था। और विलासता और बहुतायत में उसके सभी प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड दिया था।




Image Credits: Wikipedia
Source Credits: Wikipedia