Friday, July 21, 2017

जानिए लाई-फाई के बारे में.....


अब तक पुरे विश्व भर में डेटा ट्रांसफर के लिए वाई-फाई तकनीक का प्रयोग होता है; पर अब ऐसी तकनीक आ गई है, जो वाई-फाई से 100 गुना तेज होगी| इस तकनीक का नाम लाईफाई है| यह एक वायरलेस ब्रॉडबैंड तकनीक है, जिसमे डेटा ट्रांसफर करने के लिए एलईडी का इस्तेमाल होता है|

वाई-फाई रेडियो फ्रीक्वेंसी पर आधारित है; जबकि लाई-फाई प्रकाश पर आधारित है, जो वाई-फाई की तुलना में 100 गुना तेजी से डेटा ट्रांसफर करने में सक्षम है| इसमें डेटा का ट्रांसफर करने के लिये एलइडी बल्ब का प्रयोग जाता है यानि कि इस तकनीक में डेटा वीएलसी द्वारा ट्रांसफर होता है| जैसी की आपका टीवी रिमोट चलता है|

इस तकनीक खास बात यह है की लाई-फाई स्टार्ट-अप की स्थापना भारतीय ‘दीपक सोलंकी’ ने की थी| इस स्टार्ट-अप के सभी कर्मचारी भारतीय है| दीपक सोलंकी मुताबिक़ लाई-फाई तकनीक आम आदमी तक तीन से चार साल तक पहुचेगी|


इस तकनीक का फायदा यह है कि वाई-फाई की तरह दूसरे रेडियो सिग्नल के लिए अवरोध नहीं बनता है. इसलिए इसका इस्तेमाल हवाई जहाज जैसी उन जगहों पर किया जा सकता है जहां रेडियो सिग्नल में अवरोध की समस्या आती है। लाई-फाई तकनीक प्रकाश पर आधारित होने के कारण इसकी खामी यह है की लाई-फाई वाई-फाई सिग्नल की तरह दीवार या किसी ठोस वस्तु के आरपार जाने में असमर्थ है|

img cradit: flicker

क्या आप इन Science Facts को झूठ तो नहीं समझ रहे होना??? 

No comments:

Post a Comment