Saturday, August 5, 2017

चंद्रमा पर कदम रखने वाले पहले व्यक्ति

       अमेरिका के निवासी नील एल्डन आर्मस्ट्रांग जुलाई 1969 में पहली बार चंद्रमा पर कदम रखने वाले खगोलयात्री थे। एक खगोलयात्री साथ-साथ वह नौसेना के अधिकारी,परीक्षण पायलट, प्रोफ़ेसर भी थे। उनका जन्म 5 अगस्त, 1930 वेपकॉनेटा ओहायो में हुआ था। उनको मुख्यरूप से अपोलो अभियान के रूप में चंद्रमा पर कदम रखने वाले पहले व्यक्ति के नाम से जाना जाता है। वह अंतरिक्ष यान पर 8 दिन 14 घंटे 12 मिनिट तक रहे थे। 
       आर्मस्ट्रांग को जेमिनी चालक दल मिशन की घोषणा में कमांड पायलट बनाया गया था, यह एक जटिल मिशन था जिसमे टाइटन यान में आर्मस्ट्रांग और स्कॉट सवार थे। यान को वापस लाने के लिए कैप्सूल कम्युनिकेटर के रूप में भूमिका प्रदान करके उनकों अच्छी सफ़लता मिली थी। चाँद पर उतरने वाले पहले सदस्य वही होगे ऐसा पूर्व प्रतीत हो गया था। नासा प्रबंधन का मानना था की वह एक विनम्र एवम कुशाग्र व्यक्ति है और पहले वह एक कमांडर थे, इसको चाँद पर पहले उतरने का अवसर दिया जाना चाहिए। 

      आर्मस्ट्रांग और उनके साथियों को इस साहसपूर्ण काम के लिए वहा के राष्ट्रपति निक्सन के हाथो मेडल ऑफ फ्रीडम से सन्मानित किया गया था। वर्ष 1978 कॉंग्रेसनल स्पेस मेडल ऑफ ऑनर अर्पित किया गया था। वर्ष 2009 में कॉंग्रेसनल गोल्ड मेडल दिया गया। आर्मस्ट्रांग की मृत्यु सिनसिनाती, ओहायों में 25 अगस्त 2012 को 82 वर्ष की उम्र में बाईपास सर्जरी के दौरान हुई थी।