Wednesday, December 27, 2017

यहाँ समुद्र के बीच बन जाता है रास्ता!


यह आइलैंड साउथ कोरिया सबसे बड़ा तीसरा महाद्वीप है| यह अनेक छोटे द्वीपों के साथ मिलकर बनता है और उसे जिंदों देश के नाम से भी पुकारा जाता है| यहाँ के 'जिंदों' प्रजाति के कुत्ते भी विश्व विख्यात है| साथ ही साथ इस आइलैंड पर प्रतिवर्ष घटना भी घटित होती है; जो किसी जादू से कम नहीं है|

यहाँ प्रतिवर्ष दो बार जिंदो और मोड़ो आइलैंड के बीच बहता समुद्र के तेज पानी का बहाव एकाएक शांत हो जाता है और दोनों द्वीपों के बीच कुछ घंटो के लिए पानी का स्तर कम हो जाता है| यह पानी इतना कम होता की इन दोनों के बीच एक सड़क दिखाई देने लगती है| यह रहस्यमयी सड़क देखने के पर्यटकों के भीड़ आती है और सड़क का विलुप्त हो जाना एक जादू जैसा ही होता है| यह प्राकृतिक संयोग को 'जिंदो मोसेस मिरेकल' के नाम से जाना जाता है|

स्थानीय लोगों और पौराणिक कथा मुताबिक पुराने समय में यहाँ बहुत सरे बाघ रहते थे; जो दिन पर गाँव में रहने वाले लोगों पर आक्रमण करते रहते थे| इससे परेशान हुए लोग गाँव छोडकर जाने लगे लेकिन दुर्भाग्य से 'बबोंग' नामक एक बूढी महिला इस गाँव में रह गई| यह महिला हररोज समुद्र देवता को उसे सुरक्षित दूसरी ओर पहुँचाने कि प्रार्थना करती थी| समुद्र देवता ने उसकी बात सुनकर बेबोंग को सपने में अपने बीच से रास्ता देने की बात कही| जब वह अगले दिन समुद्र पर गई, तो उसे पानी के बीच रास्ता दिखाई दिया| कहते है की तब से आज तक साल में 2 दिन समुद्र का पानी दो भागों में बँट जाता है और रास्ता बन जाता है|


पर वैज्ञानिक इस पौराणिक कथा का स्वीकार नहीं करते है| उनका कहना है की यह रास्ता लहरों की लयबद्धता के कारण होता है| चंद्रमा और पृथ्वी के घुमने के चक्र से उत्पन्न तथा गुरुत्वाकर्षण बल के कारण समुद्र की लहेरों की गति तेज या कम हो जाती है| जब लहेरों का वेग अत्यधिक कम होता है तब समुद्र की वही सतक नज़र आने लगती है; जो इन दोनों आईलैंड को आपस में जोडती है|



No comments:

Post a Comment