Sunday, January 21, 2018

सरल मशीन स्टेपलर के बारे में एक दिलचस्प बात



स्टेपलर कागज को पिन से चिपकाने के लिए एक लोकप्रिय उपकरण है। यह एक सरल मशीन है जो दबाव और लाभके सिद्धांत पर काम करता है। उनका इतिहास बहुत रसपद है|

18 वीं शताब्दी में, फ्रांस के राजा लुईस के कोर्ट में, कागज को चिपकाने लिए स्टेपलर जैसा प्रथम उपकरण बना| जैसा कागज का उपयोग बढ़ा वैसे ही पिन की आवश्यकता बढ़ी| सन 1866 में जोर्ज मेकगिल नामक कारीगर ने एक सिलाई मशीन जैसा बड़ा स्टेपलर बनवाया| इसमे पिन लगाने की सुविधा थी| पिन का टुकड़ा दबाव से स्वचालित रूप से फस जाय वैसा स्टेपलर सन 1877 में हेंनी हेइल नामक कारीगर ने बनवाया| यह स्टेपलर बड़ा और वजनदार था| उसमे पिन नही, लेकिन प्रयुक्त धातु के तार इस्तमाल किया जाता| तार को काट जाने के बाद वही टुकड़ा कागज को जोड़ देता था|  उसे पेपर फासटनर कहा जाता था|

1901 से स्टेपलर शब्द प्रचलित हुआ| इसके बाद कई स्टेपलर्स विकसित हुए| आज, एक स्टैपलर बंदूक भी प्लास्टिक या लकड़ी पर पिन मारने के लिए बन गई है।