Wednesday, January 17, 2018

एशिया की सबसे बड़ी लाइब्रेरी : रजा लाइब्रेरी



रजा रामपुर लाइब्रेरी उत्तर प्रदेश के रामपुर में स्थित है। यह 1774 में नवाब फैज़ुल्लाह खान द्वारा स्थापित की गयी थी। उन्होंने अपनी सारी किताबें दान में देदी जो उन्हें अपने पूर्वजों से मिली थी। यहाँ वो पुस्तके है जो उन्होंने नवाबों के तोशाखाना में रखी थी। यहाँ भारत और इस्लामी सांस्कृतिक का बहुत अच्छा संग्रह है।

रामपुर ब्रिटिश काल के समय में स्थापित राज्य है। नवाबों या शासकों के राज्य के दौरान यहाँ बहुत सारे बदलाव हुए। पुस्तकालय में इस्लामी सुलेख के नमूने और खगोलीय उपकरणों की एक विविध और मूल्यवान संग्रह जैसे ऐतिहासिक स्मारकों, पांडुलिपियों, मुगल लघु चित्रों, फारसी और अरबी भाषाओं के दुर्लभ संग्रह शामिल हैं।

 पुस्तकालय में हिन्दी, संस्कृत, उर्दू, तमिल, तुर्की और पश्तो साहित्य, जैसी दुर्लभ पुस्तकों का खजाना है। तथापि, पवित्र कुरान का पहला अनुवाद हस्तलिपि में यहाँ हुआ था। यहाँ 30,000 से अधिक पुस्तकों और कई भाषाओं में पत्रिकाएं शामिल हैं। इस समय यह पुस्तकालय भारत सरकार दोवारा संचालित हो रही है।