Wednesday, January 3, 2018

ई-वॉलेट क्या है?


ई-वॉलेट यानि की इलेक्ट्रोनिक वॉलेट। ई-वॉलेट एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक कार्ड है; जिसका उपयोग कम्प्यूटर या स्मार्टफोन के जरिए ऑनलाइन लेनदेन के लिए होता है। इसकी उपयोगिता क्रेडिट या डेबिट कार्ड की तरह ही होती है। ई-वॉलेट से भुगतान करने के लिए व्यक्ति के बेंक अकाउंट से लिंक करवाना आवश्यक होता है। इनका मुख्य उदेश कागजरहित धनराशि को स्थानान्तरण को अधिक आसन बनाना है।

ई-वॉलेट का मुख्य दो भाग होता है। 
                                                  1. सॉफ्टवेयर और 
                                                  2. जानकारी। 
सोफ्टवेर व्यक्ति की जानकारी स्टोर करता है और डेटा सुरक्षा एवं एंक्रिप्शन देता है। जबकि जानकारी में उपयोगकर्ता द्वारा प्रदत्त विवरण का डेटाबेस होता है। इसमें व्यक्ति का नाम, एड्रेस, भुगतान विधि, भुगतान की राशि, क्रेडिट या डेबिट कार्ड आदि का विवरण होता है।

ई-वॉलेट का उपयोग कैसे करे??

1. उपभोक्ता के लिए

सबसे पहले अपने डिवाइस में यह एप्प डाउनलोड कीजिए। इसके बाद जरुरी जानकारी देकर लॉग इन करे। इसके बाद उपयोगकरता को एक पासवर्ड प्राप्त होगा।

अब डेबिट/क्रेडिटकार्ड या नेट बैंकिंग जरिए इसमें धनराशि डालिए। ऑनलाइन भुगतान होने के बाद उपयोगकर्ता को किसी भी अन्य वेबसाईट पर भरने की आवश्यकता नहीं है क्योकि विवरण डेटाबेस में स्टोर हो जाता है और स्वयं अपडेट होते है।

2. व्यापारी के लिए

व्यापारी अपने डिवाइस में एप्प डाउनलोड करते है और निर्धारित जानकारी देकर लॉग इन करता है। इसे भी एक पासवर्ड प्राप्त होते है। वे स्वयं को व्यापारी घोषित करते है और भुगतान का स्वीकार करते है।

ई-वॉलेट का उपयोग करने के लिए बैंक अकाउंट, स्मार्टफोन, इंटरनेट कनेक्शन और एक वोलेट एप्प का होना आवश्यक होता है।
ई-वॉलेट का उपयोग करते है तब किस चीज का ध्यान रखे??

ई-वॉलेट का प्रयोग करने से पहले ये चीज का ध्यान रखना बेहद जरुरी होता है। जो आप एसएमएस के जरिए प्रत्येक लेनदेन की नियमित जानकारी हासिल करना चाहते हो तो अपना मोबाईल नंबर बैंक में रजिस्टर करवाए। अपना पिन किसी के साथ कभी भी शेर मत कीजिए और केवल विश्वसनीय व्यापारियों के साथ ही लेनदेन कीजिए। एटीएम का उपयोग करने से पहले यह निश्चित कीजिए कि कोई आपको पीछे से तो देख नहीं रहा है ना।